Billboard Ads

high blood pressure what do not in hbp

हाई ब्लड प्रेशर के मामले भारत में तेजी से बढ़ रहे है। इसे हिंदी में उक्त रक्तचाप कहते है। एक सर्वे के अनुसार, भारत में पांच में से एक परिवार का कोई न कोई सदस्य इस समस्या से परेशान है। अगर इसका इलाज़ न कराया जाए और ये बढ़ जाता है तो कोई समस्याये जैसे - हार्ट अटैक और स्ट्रोक होने का खतरा रहता है। ये समस्या ४० - ६०+ के लोगो में अधिक होती है। लेकिन आजकल ये समस्या कम उम्र के लोगो में भी तेजी से बढ़ रही है।
इस समस्या से ग्रस्त लोगो को ये जानना बहुत जरुरी की हाई ब्लड प्रेशर होने पर क्या करना चाहिए और क्या नहीं। लेकिन उससे पहले जानते है की हाई ब्लड प्रेशर है क्या

हाई ब्लड प्रेशर क्या है - What is High Blood Pressure

जब किसी व्यक्ति का ब्लड प्रेशर 140/80 से अधिक हो जाता है। तब हाई ब्लड प्रेशर होता है। यदि आपको उच्च रक्तचाप है, तो ये उच्च रक्तचाप आपके दिल और रक्त वाहिकाओं पर अतिरिक्त तनाव डालता है। समय के साथ, ये तनाव बढ़ने पर दिल के दौरे या स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है। साथ ही उच्च रक्तचाप दिल और गुर्दा की बीमारी भी पैदा कर सकता है।

शराब से परहेज करें - वैसे तो शराब पीना सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। क्योकि ये ये शरीर पर कई तरह से बुरा प्रभाव डालता है। लेकिन अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है तो शराब का बिलकुल भी ना पिए। क्योकि ये शरीर के ब्लड फ्लो में रूकावट करता है और शरीर में ब्लड का फ्लो सही तरीके से नहीं हो पाता है।

ध्रूमपान से रहे दूर - अगर आपको हाई ब्लड प्रेशर की समस्या है। ध्रूमपान से दूर रहे। क्योकि ध्रूमपान करने से ब्लड प्रेशर तेजी से बढ़ता है। 

नमक का कम इस्तेमाल करे - हाई ब्लड प्रेशर में नमक का कम इस्तेमाल करे। ज्यादा नमक के इस्तेमाल शरीर से अधिक मात्रा में पानी भर जाता है। इससे हाई ब्लड प्रेशर की समस्या हो जाती है। 

तनाव से दूरी रखें - तनाव सेहत के लिए अच्छा नहीं होता है। और ये सेहत का दुश्मन है। कई सारी शारीरिक समस्याओ का कारण तनाव ही होता है। इसलिए तनाव न ले। बल्कि ऐसे काम में मन लगाए जिससे आपको ख़ुशी मिले। 

बेहतर खानपान - खानपान का हमेशा ख्याल रखे। और खाने में फल और हरी सब्जियों का अधिक सेवन करे। 

मोटापा न बढ़ने दे - मोटापा होने से शरीर कई तरह की समस्या से घिर जाता है। अधिक मोटापा और वजन बढ़ने से हाई ब्लड प्रेशर का खतरा बढ़ जाता है इसलिए वजन पर काबू रखे और प्रीतिदिन दौड़ और मॉर्निंग, इवनिंग वाक पर जाए।